Track Order    
8%
OFF

1 Mukhi Rudraksha Pendant (एकमुखी रुद्राक्ष पेंडेंट)

2450 2650
रुद्राक्ष को धरती पर भगवान शिव का अंश माना जाता है। एक मुखी रुद्राक्ष के बारे में कहा जाता है कि ये धरती पर गिरा भगवान शिव के प्रथम आंसू का स्‍वरूप है। संपूर्ण संसार में एक मुखी रुद्राक्ष से ज्‍यादा कल्‍याणकारी और मंगल वस्‍तु और कोई नहीं है।
Availability : In Stock
Delivery : Within 3 - 5 Business Days
Free Shipping : All over India
Whatsapp Number : 9319771309
Order on Call : 9319771309
Price :
2450 2650
Share Product :

Specification

Delivery : डिलीवरी पर कोई शुल्क नही और COD सुविध भी उपलब्ध है

Description

एकमुखी रुद्राक्ष पेंडेंट (1 Mukhi Rudraksha Pendant)

रुद्राक्ष को धरती पर भगवान शिव का अंश माना जाता है। एक मुखी रुद्राक्ष के बारे में कहा जाता है कि ये धरती पर गिरा भगवान शिव के प्रथम आंसू का स्‍वरूप है। संपूर्ण संसार में एक मुखी रुद्राक्ष से ज्‍यादा कल्‍याणकारी और मंगल वस्‍तु और कोई नहीं है।

एकमुखी रुद्राक्ष पेंडेंट के लाभ (Benefits of 1 Mukhi Rudraksha Pendant)

  • इस रुद्राक्ष को धारण करने से व्‍यक्‍ति की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। मनोकामना की पूर्ति के लिए 1 मुखी रुद्राक्ष पहन सकते हैं।
  • ध्‍यान करने के इच्‍छुक लोगों को एक मुखी रुद्राक्ष जरूर पहनना चाहिए।
  • यह शरीर में ऊर्जा के स्‍तर को नियंत्रित करने में मदद करता है। शरीर में दुबर्लता महसूस होती है तो इस रुद्राक्ष को पहन सकते हैं।
  • अगर किसी व्‍यक्‍ति में आत्‍मविश्‍वास की कमी है और वो दूसरों से बात करने में हिचकिचाहट महसूस करता है तो उसे एक मुखी रुद्राक्ष जरूर धारण चाहिए। इस रुद्राक्ष से आत्‍मविश्‍वास में वृद्धि होती है।
  • बुरी नज़र और नकारात्‍मक ऊर्जा से बचाने में भी एक मुखी रुद्राक्ष सहायक है। अगर आप एक जगह नहीं रूकते हैं और यात्रा करते रहते हैं तो आपके लिए एक मुखी रुद्राक्ष सुरक्षा कवच के रूप में कार्य करता है। ये आपको आसपास की नकारात्‍मक ऊर्जा और शक्‍तियों से बचाता है।
  • इसे धारण करने वाले व्‍यक्‍ति को सुख, समृद्धि, धन और भाग्‍य की प्राप्‍ति होती है।
  • पापों से मुक्‍ति पाने के लिए एक मुखी रुद्राक्ष पहन सकते हैं।
  • यदि आपको लगता है कि आपके शत्रु बहुत हैं और वो आपको कभी भी हानि पहुंचा सकते हैं तो आपको भगवान शिव के आशीर्वाद से 1 मुखी रुद्राक्ष पहनने से लाभ होगा।
  • धन की प्राप्‍ति एवं आर्थिक तंगी से जूझ रहे व्‍यक्‍ति के लिए भी ये रुद्राक्ष किसी उपहार से कम नहीं है।

जन्म कुंडली के अनुसार रुद्राक्ष (1 Mukhi Rudraksha Pendant Accoring to Janam Kundali)

जन्‍मकुंडली में ग्रहों की स्थिति एवं दशा का विश्‍लेषण करने के बाद ही रुद्राक्ष दिया जाता है। हर रुद्राक्ष के विशेष गुण और लाभ होते हैं। आपके पास एक मुखी रुद्राक्ष भेजने से पहले उसे अधिष्‍ठाता ग्रह के मंत्रों से अभिमंत्रित किया जाता है ताकि धारणकर्ता को इसका पूर्ण फल मिल सके।

अगर आप नकली रुद्राक्ष धारण करते हैं तो इससे आपको कोई लाभ नहीं मिलेगा इसलिए आपको सही जगह से सही रुद्राक्ष लेना चाहिए। Jyotishhelp का एक मुखी रुद्राक्ष प्रमाणित है। इसकी दिव्‍यता और आध्‍यात्‍मिकता को बनाए रखने के लिए Jyotishhelp के आचार्य रुद्राक्ष को अभिमंत्रित करने के बाद ही आपके पास भेजते हैं।

एक मुखी रुद्राक्ष पेंडेंट की प्रयोग विधि (How to Wear 1 Mukhi Rudraksha Pendant)

एक मुखी रुद्राक्ष को सोमवार के दिन धारण करना चाहिए। सोमवार को प्रात: सुबह उठकर स्‍नान कर साफ वस्‍त्र धारण कर लें। अब अपने घर के पूजन स्‍थल में स्‍वच्‍छ आसन बिछाकर बैठ जाएं। अब एक तांबे का बर्तन लें और उसमें गंगाजल भरें। इसके बाद एक मुखी रुद्राक्ष को डुबो दें। अब 108 बार ‘ऊं ह्रीं नम:’ मंत्र का जाप करें और सफेद या लाल धागे में इसे धारण कर लें।

एक मुखी रुद्राक्ष पेंडेंट हमसे क्‍यों लें

Jyotishhelp द्वारा भेजा गया एक मुखी रुद्राक्ष प्रमाणित है और अनुभवी आचार्या एवं पंडित जी द्वारा अभिमंत्रित करने के बाद ही इसे आपके पास भेजा जाएगा ताकि आपको इसका तुरंत और संपूर्ण लाभ मिल सके।

Add a Review

Your email address will not be published.

Review

there are no reviews yet

Related Products
8%
OFF
1 Mukhi Rudraksha Pendant (एकमुखी रुद्राक्ष पेंडेंट)
रुद्राक्ष को धरती पर भगवान शिव का अंश माना जाता है। एक मुखी रुद्राक्ष के बारे में कहा जाता है कि ये धरती पर गिरा भगवान शिव के प्रथम आंसू का स्‍वरूप है। संपूर्ण संसार में एक मुखी रुद्राक्ष से ज्‍यादा कल्‍याणकारी और मंगल वस्‍तु और कोई नहीं है।
2650 2450
Quick View
19%
OFF
2 Mukhi Rudraksha Pendant (दो मुखी रुद्राक्ष पेंडेंट)
दो मुखी रुद्राक्ष पर भगवान शिव और मां पार्वती की कृपा बरसती है। इस रुद्राक्ष के दो मुख हैं जो कि भगवान शिव और मां पार्वती को अर्धनारीश्‍वर रूप में दर्शाते हैं। दाम्‍पत्‍य सुख के लिए इस रुद्राक्ष को पहना जाता है। ज्‍योतिष में दो मुखी रुद्राक्ष को चंद्रमा का कारक माना गया है।
1550 1250
Quick View
19%
OFF
3 Mukhi Rudraksha Pendant (तीन मुखी रुद्राक्ष पेंडेंट)
तीन मुखी रुद्राक्ष को स्‍वयं अग्नि देव का रूप माना जाता है। इसमें अग्‍नि देव की तरह ही तेज और ऊर्जा होती है। जिस तरह अग्‍नि सोने को शुद्ध कर देती है, उसी तरह अग्‍नि स्‍वरूव तीन मुखी रुद्राक्ष भी धारणकर्ता के तन और मन को शुद्ध कर देता है।
1550 1250
Quick View
19%
OFF
6 Mukhi Rudraksha Pendant (छह मुखी रुद्राक्ष पेंडेंट)
6 मुखी रुद्राक्ष भगवान शिव के पुत्र कार्तिकेय को समर्पित है। भगवान कार्तिकेय के 6 मुख हैं और इसीलिए 6 मुखी रुद्राक्ष उनसे संबंधित है। इस रुद्राक्ष को पहनने वाले व्‍यक्‍ति को भगवान कार्तिकेय से योद्धा के गुण एवं साहस मिलता है।
1550 1250
Quick View
.